Type Here to Get Search Results !

Bottom Ad

रोडवेज में अधिकारियों की लापरवाही से विभाग को हो रहा है लाखों का नुक़सान



वेदव्यास त्रिपाठी 

खबर प्रतापगढ़ से है जहां रोडवेज में अधिकारियों की लापरवाही से विभाग को लाखों का चूना प्रतिमाह लग रहा है।विभाग के कर्मचारी एआरएम की लापरवाही से हतप्रभ है।


बताते है कि रोड टैक्स व फिटनेस के बिना बसों का संचालन कराया जा रहा। 11 अक्टूबर को बस संख्या UP 72-T-3494 सवारियो को लेकर प्रतापगढ़ से कानपुर के लिए निकली।


उन्नाव के बीघापुर थाना क्षेत्र में बस से एक महिला की मौत हो गयी।दुर्घटना के बाद बीघा पुर थाने की पुलिस बस को थाने ले गयीं।सम्बन्धित बस का कागज से देखा गया तो पता चला कि बस का फिटनेस ही नही है।यही नही रोड टैक्स भी जमा नही है।


कागज के अभाव में पुलिस ने बस को सीज कर दिया।अब इस बस को छुड़ाने के लिए दो लाख रुपये का जुर्माना जमा करना पड़ेगा।


इसके अलावा मृतका के परिजन को कोर्ट जब मुआवजा देने का आदेश करेगा वह अलग होगा।परिवहन विभाग के एक कर्मचारी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि सम्बन्धित बस की फिटनेस 28 सितम्बर को समाप्त हो गया था।


फिटनेस हासिल करने के लिए बस को एआरटीओ कार्यालय भेजा गया किन्तु बस की स्थित देखने के बाद फिटनेस नही मिल सका था।इसके अलावा एक अक्टूबर को बस का रोड टैक्स जमा होना था किंतु जमा नही हो पाया।


फिटनेस व रोड टैक्स जमा न होने की रिपोर्ट एआरएम को दी गयी थी।किन्तु वह बस के संचालन पर रोक नही लगाए।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Top Post Ad



 

Below Post Ad

Bottom Ad