Type Here to Get Search Results !

Bottom Ad

भारत चीन सीमा पर तनाव को लेकर प्रमोद तिवारी ने राज्यसभा में सरकार से तल्ख कदम उठाए जाने पर दिया जोर



विदेश मंत्री ने संसद को बताया सीमा पर हालात को लेकर जारी है दोनों पक्षो के समकक्षीय सैन्य अफसरो के बीच वार्ता के साथ कूटनीतिक प्रयास

कुलदीप तिवारी 

लालगंज, प्रतापगढ़। कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य एवं स्टेयरिंग कमेटी के मेंबर प्रमोद तिवारी ने राज्यसभा मे चीन भारत सीमा विवाद पर सरकार से सवाल करते हुए सीमा पर चीन के अतिक्रमण के खिलाफ मोदी सरकार से तल्ख कदम उठाए जाने की कडी मांग की है। 


राज्यसभा मे बुधवार की शाम भारत-चीन सीमा पर उपजे तनाव को लेकर कांग्रेस सांसद ने सवाल उठाते हुए सरकार से इस अहम राष्ट्रीय मसले पर संसद के जरिए देश को ताजा स्थिति बयान करने पर जोर दिया। 


प्रमोद तिवारी ने सरकार से जानना चाहा कि भारतीय सीमा के लददाख मे वास्तविक नियंत्रण रेखा एलएसी के इस पार भारत के एक बडे भूभाग पर चीन ने कब्जा कर लिया है। 


प्रमोद तिवारी ने सदन में तमाम सेटेलाइटस की तस्वीरो का हवाला देते हुए कहा कि इससे साफ प्रदर्शित हो रहा है कि चीन ने अर्न्तराष्ट्रीय नियमो का उल्लंघन करते हुए भारतीय भूभाग पर अनाधिकृत कब्जा किया है। 


उन्होने चीन सीमा तनाव को लेकर सरकार से कहा कि लददाख मे इक्कीस भारतीय जवानो की शहादत को लेकर इस मसले पर पूरा देश चिंतित है। 


उन्होने संसद मे कहा कि चीन भारत तनाव राजनैतिक नही बल्कि पूरी तरह राष्ट्रीय भावनाओं से जुडा एक अहम मुददा है। प्रमोद तिवारी ने सरकार से यह भी जानना चाहा कि इस अहम मसले पर भी जी-20 समूह में जब भारत और चीन दोनो के राष्ट्राध्यक्ष मिले थे या अन्य फोरम पर चीन से भारतीय भूभाग खाली कराने एवं इक्कीस जवानो की निर्मम हत्या का मुददा उठाया गया था और इस पर क्या प्रयास हुआ इसे भी प्रमोद तिवारी ने सरकार से स्पष्ट करने को कहा। 


प्रमोद तिवारी के सवाल पर भाजपा के कई सांसदो की आपत्तियो के बावजूद सभापति जगदीप धनकड ने प्रमोद तिवारी के द्वारा राष्ट्रीय ज्वलंत मुददे पर उठाए गए इस संवेदनशील सवाल पर सरकार को स्पष्टीकरण देने का निर्देश दिया। 


सभापति के निर्देश पर अब तक चीन मसले पर इसे अंर्तराष्ट्रीय अति संवेदनशील मुददा बताकर बयान से बचाव कर रही सरकार की तरफ से विवश हुए विदेश मंत्री एस जयशंकर को वक्तव्य का निर्देश दिया। 


इस पर विदेश मंत्री ने संसद को बताया कि सरकार की ओर से चीन सीमा तनाव को लेकर समकक्षीय सैन्य अधिकारियो तथा कूटनीतिक वार्ता का दौर जारी है। राज्यसभा सदस्य प्रमोद तिवारी के सवालिया फिरकी पर विदेश मंत्री एस जयशंकर संसद मे भारत चीन सीमा विवाद पर सरकार की ओर से संसद को सीमा विवाद की ताजा स्थिति से अवगत कराया। 


वहीं कांग्रेस सांसद प्रमोद तिवारी ने आरोप लगाया कि भारतीय जमीन पर अनाधिकृत कब्जे को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी विरोधीदल की बैठक तक में अभी तक लगातार अनाधिकृत कब्जे और सैन्य अतिक्रमण को लेकर गलत बयानबाजी करते आ रहे है। 


सांसद प्रमोद तिवारी के सीमा विवाद पर उठाए गए सवाल को जिस तरह से राष्ट्रीय भावनाओं से जोडते हुए मजबूती से रखा गया उसे देखते हुए संसद मे पहली बार सभापति के निर्देश पर विदेश मंत्री सरकार की ओर से बयान देने की मजबूरी मे नजर आये। 


वहीं कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य प्रमोद तिवारी ने विदेश मंत्री के वक्तव्य को लेकर कांग्रेस की ओर से संसद मे यह स्पष्ट किया कि भारत चीन द्वारा देश की सम्प्रभुता पर किसी भी नकारात्मक प्रयासो का सख्ती से जबाब दे। 


कांग्रेस सांसद प्रमोद ने सरकार को यह भी भरोसा दिलाया कि भारत चीन मसले पर कांग्रेस सहित पूरा देश एक जुट है। उन्होनें साफ किया कि सरकार द्वारा सीमा सुरक्षा के लिए उठाए गए हर कदम मे पूरा देश एक साथ खड़ा मिलेगा।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Top Post Ad



 

Below Post Ad

Bottom Ad