Type Here to Get Search Results !

Bottom Ad

ईसानगर में तैनात शिक्षिका की उसके रूम में हुई मौत,शिक्षकों में शोक की लहर



रूम पर बुलाने गए बच्चों को अंदर से बन्द मिला कमरा,डाक्टरों ने मृत किया घोषित

आयुष मौर्य 

धौरहरा खीरी।ईसानगर ब्लॉक के प्राथमिक स्कूल गोबिंद शुगर मिल में तैनात सहायक अध्यापिका की बीती रात उनके आवास पर मौत हो गई। शनिवार को सुबह जब वह पड़ोस में ही स्थित विद्यालय नहीं पहुचीं तो बच्चे उनके रूम पर बुलाने पहुच गए ।


जहां अंदर से कमरा बन्द होने की जानकारी पाकर सहयोगी शिक्षक समेत मकान मालिक ने जाकर उनका रूम खोला तो वह मरणासन्न अवस्था में मिली, जिनको सीएचसी में भर्ती कराया गया जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। जिसकी सूचना पाकर परिजनों के साथ साथ ब्लॉक के शिक्षकों में शोक की लहर दौड़ गई।


ईसानगर ब्लॉक के प्राथमिक स्कूल गोबिंद शुगर मिल खमरिया में तैनात सहायक अध्यापिका शेषकुमारी जनपद फैज़ाबाद अयोध्या की रहने वाली थी। 


वह ईसानगर ब्लॉक में अपने विद्यालय से कुछ ही दूरी पर क़स्बा खमरिया के गोवर्धन चौधरी के मकान में किराए पर रहती थी। शुक्रवार को स्कूल से छुट्टी होने के बाद वह अपने कमरे पर चली गई थी। 


शनिवार को सुबह जब वह स्कूल नहीं पहुचीं तो साथी शिक्षकों ने उनको फ़ोन किया पर वह रिसीव नहीं हुआ। जिसको लेकर स्कूल के बच्चे उनके कमरे पर उन्हें बुलाने पहुच गए। 


जहां उनका मोबाइल बज रहा था पर रूम बन्द था। जिसकी जानकारी बच्चों ने अन्य शिक्षकों को जाकर दी तो वहां से साथी शिक्षक बसंत कुमार,शिक्षिका रशमी समेत अन्य शिक्षक व रसोइया जाकर मकान मालिक के साथ दरवाजा खोला तो वह मरणासन्न अवस्था मे मिली। 


जिनको देखकर शिक्षकों ने उन्हें आनन फानन में सीएचसी खमरिया में ले गए जहाँ डाक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।


शिक्षकों ने परिजनों को दी सूचना,ब्लॉक में शोक की लहर


शिक्षिका शेष कुमारी की अचानक मौत होने के बाद शव को अस्पताल में रोककर साथी शिक्षक बसंत कुमार,शिक्षिका रश्मी,अनुदेशक विजय दुबे समेत अन्य शिक्षकों ने उनके निधन की सूचना परिजनों व पुलिस को दी। 


वहीं शिक्षिका की मौत होने की सूचना पाकर परिजनों के साथ साथ ब्लॉक के शिक्षकों में शोक की लहर दौड़ गई।


इस बाबत स्कूल के प्रधानाध्यापक बसंत कुमार ने बताया कि शुक्रवार को वह बिल्कुल ठीक थी। जो स्कूल में छुट्टी होने के बाद अपने रूम पर चली गई थी। 


सुबह जब वह स्कूल नहीं पहुचीं तो उनके मोबाइल पर काल की तो रिसीव नहीं हुआ। जिसके बाद कुछ बच्चे उनके रूम पर उन्हें बुलाने गए तो उनका रूम अंदर से बन्द मिला। 


जिसकी जानकारी पाकर स्टॉप व मकान मालिक के साथ जाकर रूम खोला गया तो वह अपने रूम में मरणासन्न अवस्था मे मिली जिनको अस्पताल लाया गया तो डाक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। मौत कैसे हुई इसका पता अभी नहीं चल पाया है।


पति ने पुलिस को पोस्टमार्टम करवाने की दी तहरीर


घटना की सूचना पाकर फैज़ाबाद से चलकर सायं करीब 4 बजे सीएचसी खमरिया परिजनों के साथ पहुचे पति ने पुलिस को प्रार्थना पत्र देकर शव का पोस्टमार्टम करवाने की बात कही जिसको गंभीरता से लेते हुए उपनिरीक्षक शिवाजी दुबे ने उनके रूम की जांच पड़ताल कर खबर लिखे जाने तक शव को कब्जे में लेकर पीएम के लिए जिला मुख्यालय भेजने की तैयारी शुरू कर दी थी।

Tags

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Top Post Ad



 

Below Post Ad

Bottom Ad