Type Here to Get Search Results !

Bottom Ad

गोण्डा बलरामपुर से गोरखपुर रूट के ट्रेन यात्रियों के लिए बड़ी खबर



अखिलेश्वर तिवारी 

 जनपद बलरामपुर जिला मुख्यालय से होकर गुजरने वाली गोंडा गोरखपुर रेल लाइन पर विद्युतीकरण का कार्य पूर्ण हो चुका है । रेलवे विभाग के अधिकारियों द्वारा 20 फरवरी सोमवार को संप्रेषण हाउस तथा उच्च वोल्टेज पावर हाउस का निरीक्षण करने के बाद लाइनों पर इलेक्ट्रिक इंजन के संचालन की हरी झंडी दे दी गई है । गोंडा गोरखपुर वाया बलरामपुर रेलखंड पर फरवरी से विद्युत चालित इंजनों द्वारा ट्रेनों का संचालन प्रारंभ हो जाएगा ।



       जानकारी के अनुसार पूर्वात्तर रेलवे लखनऊ मण्डल द्वारा यात्री सुविधाओं के उन्नयन एवं परिचालन सुगमता हेतु मूलभूत ढ़ांचे में विस्तार के क्रम में आज पचपेड़वा (रहित)-सुभागपुर (रहित) रेलखंड के मध्य प्रातः 09ः45 बजे से पूर्वात्तर रेलवे के प्रमुख मुख्य विद्युत इंजीनियर ए. के. गुप्ता द्वारा प्रमुख परियोजना निदेशक आर.ई सुधांशु कृष्ण दुबे एवं लखनऊ मण्डल के अपर मण्डल रेल प्रबन्धक इंफ्रा संजय यादव तथा वरिष्ठ मण्डल विद्युत इंजीनियर टीआरडी धर्मेन्द्र कुमार यादव की उपस्थिति में 25,000 वोल्ट ए.सी नई विद्युतकर्षण लाइन 82.997 किलोमीटर रेल खण्ड का संरक्षा की दृष्टि से, खण्ड पर निर्धारित मानकों के अनुसार किए गए कार्यों का निरीक्षण किया गया । निरीक्षण के आरम्भ में प्रमुख मुख्य विद्युत इंजीनियर श्री गुप्ता ने सुभागपुर (रहित)- इटियाथोक स्टेशनों के मध्य एस.एस.पी (सेक्शनिग एंड पैराल्लेलिंग पोस्ट)  का मानकों के अनुरूप विद्युतकर्षण, लाइन फिटिंग्स, बैटरी रूम, न्यूट्रल सेक्शन, ओवर हेड ट्रैक्शन लाइन की मानक ऊँचाई निरीक्षण किया गया। तदुपरांत श्री गुप्ता ने बलरामपुर स्टेशन पहुंचने पर स्टेशन अधीक्षक कक्ष, रिले रूम, आईपीएस रूम, यात्री सुविधाओं तथा प्लेटफॉर्म क्लियरेंस, फुटओवर ब्रिज एवं 132/25 के.वी. कर्षण उप केन्द्र समेत टावर वैगन शेड में विभिन्न संरक्षा उपकरणों का निरीक्षण किया। निरीक्षण के अगले चरण में बलरामपुर-गैंजहवा स्टेशनों के मध्य ब्रिज संख्या 151, गैंजहवा-तुलसीपुर स्टेशनों के मध्य एल.सी गेट सं0 122 स्पेशल का निरीक्षण किया तथा रेलखण्ड की कार्य प्रणाली के अनुरुप गेटमैन की कार्यशीलता एवं सजगता को परखा। निरीक्षण के अंत में प्रमुख मुख्य विद्युत इंजीनियर द्वारा गैंसडी-पचपेड़वा स्टेशनों के मध्य एस.पी (सबसेक्शनिग एंड पैराल्लेलिंग पोस्ट) का मानकों के अनुरूप ओवर हेड विद्युत कर्षण लाइन फिटिंग्स, बैटरी रूम व ट्रेक्शन लाइन की मानक ऊंचाई व संरक्षा के सभी पहलुओं का निरीक्षण किया । इसके पश्चात उन्होंने पचपेड़वा-सुभागपुर रेल खंड पर विद्युत लोकोमोटिव से चालित निरीक्षण स्पेशल ट्रेन द्वारा 110 किमी0 प्रति घंटे की अनुमेय गति से स्पीड ट्रायल भी किया गया। इस रेलखण्ड पर नई विद्युतकर्षण लाइन का कार्य पूर्ण होने पर पूर्वोत्तर रेलवे लखनऊ मण्डल की सम्पूर्ण ब्रॉड गेज लाइन विद्युतीकृत हो गयी है। इससे गाड़ियों का परिचालनिक यातायात सुगम होगा, ईंधन की बचत होगी, गाड़ियों की गति बढ़ेगी, संचलन समय में कमी होगी। जिससे इस क्षेत्र की यात्री जनता सहित पड़ोसी देश नेपाल के भी रेल यात्री लाभान्वित होंगे। इस अवसर पर लखनऊ मण्डल के वरिष्ठ मण्डल संरक्षा अधिकारी, वरिष्ठ मण्डल सिगनल एवं दूरसंचार इंजीनियर, वरिष्ठ मण्डल विद्युत इंजीनियर सा0, वरिष्ठ मंडल यांत्रिक इंजीनियर (परिचालन), वरिष्ठ मण्डल परिचालन प्रबंधक सा0, वरिष्ठ मण्डल इंजीनियर सा0 एवं अन्य अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे। 


  

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Top Post Ad



 

Below Post Ad

Bottom Ad