Type Here to Get Search Results !

Bottom Ad

बलरामपुर:पूर्व मंत्री ने स्वामी प्रसाद मौर्या पर हमला व स्याही फेंकने का किया निंदा



अखिलेश्वर तिवारी 

 जनपद बलरामपुर के गैसड़ी विधानसभा से विधायक सपा सरकार के पूर्वमंत्री एसपी यादव ने स्वामी प्रसाद मौर्य पर वाराणसी में हमले और गाड़ी पर स्याही फेके जाने की कड़ी निन्दा करते हुए आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की है । उन्होंने कहा है की यदि कार्यवाही नही की जाती है तो शोषित समाज सड़कों पर आएगा ।

         सपा कैंप कार्यालय पर 13 फरवरी को आयोजित पत्रकार वार्ता में समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता पूर्व मंत्री एसपी यादव ने योगी सरकार पर हमला करते हुए कहा की उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था नाम की कोई चीज नहीं रह गई है । अराजकत्त्व जनप्रतिनिधियों पर हमला कर रहे है । उन्होंने कहा की कुछ अराजकतत्व देश के गरीब, दलित, पिछड़े की आवाज को उठाने वालों को डराना चाह रहे है, लेकिन स्वामी प्रसाद मौर्य जैसे लोग किसी से डरने वाले नही है और लगातार दबे कुचलों की आवाज उठाते रहेंगे । पूर्वमंत्री ने कहा की संविधान में सबको बोलने और विरोध का अधिकार दिया है । किसी की आवाज को दबाया नहीं जा सकता है ।  विधायक एसपी यादव ने कहा की स्वामी प्रसाद मौर्य ने न तो राम चरित्र मानस का विरोध किया है और न ही भगवान राम का विरोध किया है बल्कि उन्होंने तो सिर्फ उन पंक्तियों का विरोध किया है जिसमे दलित, पिछड़े और महिलाओं का अपमान किया गया है । उन्होंने कहा की राम चारित्र मानस की इन पंकितियों का विरोध सिर्फ स्वामी प्रसाद मौर्य ने नही इससे पहले भी कई समाज सुधारक एवं लोगों द्वारा किया जा चुका है । उन्होंने मांग करते हुए कहा की स्वामी प्रसाद मौर्य की सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाई जाए और उन्हें जेड श्रेणी की सुरक्षा दी जाय । पूर्व मंत्री ने कहा की स्वामी प्रसाद मौर्य पर स्याही फेंकने वालो के खिलाफ सख्त कार्यवाही करते हुए उन्हें गिरफ्तार किया जाय । उन्होंने सरकार को चेतावनी भी दी कि यदि दोषियों पर कार्रवाई नहीं की गई तो आप पिछड़ा दलित और शोषित समाज सड़कों पर आ जाएगा । प्रेस वार्ता के दौरान जिला महासचिव नरसिंह यादव पूर्व सचिव इकबाल जावेद उर्फ फ्लावर तथा विकास मंत्री सफीक उल्ला भी मौजूद रहे ।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Top Post Ad



 

Below Post Ad

Bottom Ad