Type Here to Get Search Results !

Bottom Ad

समान नागरिक कानून को लागू किया जाना चाहिए: जगतगुरु शंकराचार्य स्वामी नरेंद्रानंद सरस्वती



रजनीश /ज्ञान प्रकाश                             करनैलगंज(गोंडा)। करनैलगंज क्षेत्र के श्री बरखंडी नाथ महादेव मंदिर पर आयोजित मानस वेदांत संत सम्मेलन में भाग लेने आए जगतगुरु शंकराचार्य स्वामी नरेंद्रानंद सरस्वती ने संबोधन में कहा कि अब समय आ गया है जिसमें सेना के लिए बनाए गए कानून में बदलाव व समान नागरिक कानून को लागू किया जाना चाहिए।


 उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ का सख्त होना बेहद जरूरी है। गुंडों, अपराधियों के साथ कट्टरपंथियों को सबक सिखाने या समाप्त करने का काम योगी ही कर सकत है। रामराज्य की स्थापना के पहले भी यही हुआ था यह बेहद जरूरी है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जो भी कर रहे हैं वह आज की आवश्यकता है। 


भारत में जनसंख्या नियंत्रण व समान अधिकार, समान कानून लागू करने के साथ ही सैन्य कार्रवाई के लिए बने कानून में बदलाव की विशेष आवश्यकता है। वक्फ बोर्ड और पीएफआई पर बैन होना चाहिये। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार ने भारत को विश्व गुरु बना दिया अब हिन्दू राष्ट्र घोषित करने की आवश्यकता है। 


सरस्वती ने कहा कोरोना काल में भारत की वैक्सीन से लोगों की जान बची। कोरोना काल में भारत ने यह साबित कर दिखाया है जब दुनिया में लोग मर रहे थे कई देशों में उनकी आबादी का एक तिहाई आबादी समाप्त हो गई। वहीं भारत में अपनी वैक्सीन बनाकर भारतीयों की ही नहीं दुनिया के कई देशों के लोगों की जान बचाई और दुनिया को दिखाया कि भारत अब वह भारत नहीं है जिसे लोग आंख दिखा सके, बल्कि भारत अब विश्व गुरु बन चुका है। 


जगतगुरु ने कहा कि इस्लाम धर्म में सिर्फ अल्लाह की इबादत करने की बात लिखी है। मगर जगह जगह रोड के किनारे या घनी आबादी में मजार बनाकर इबादत करना गलत है।

Tags

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Top Post Ad



 

Below Post Ad

Bottom Ad