Type Here to Get Search Results !

Bottom Ad

मनकापुर पुलिस में महिला लेखपाल, दो राजस्व निरीक्षक सहित 12 लोगों के खिलाफ विभिन्न गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज



कृष्ण मोहन 

गोंडा:मृतक छांगुर की पत्नी रोहना ने मृतक के जीवनकाल में ही उसे छोड़कर सालिकराम पुत्र फलई से दूसरा विवाह कर लिया। जिससे कोई संतान उत्पन्न नही हुई। लेकिन मौत के 32 वर्ष बाद मृतक के पुत्री पैदा हो गई, जिसके बाद पुलिस उप महानिरीक्षक के आदेश पर महिला लेखपाल और दो राजस्व निरीक्षक के खिलाफ विभिन्न गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज हुआ है।

मामला उत्तर प्रदेश के गोंडा जनपद अंतर्गत मनकापुर तहसील क्षेत्र के छपिया और वजीरगंज थाना क्षेत्र से जुड़ा हुआ है। छपिया थाना क्षेत्र के गड़रही गांव के रहने वाले श्यामपाल पुत्र चन्द्रभान ने पुलिस उप महानिरीक्षक से लगाए गए गुहार में कहा है कि उसके बड़े पिता छांगुर की पत्नी रोहना उनके जीवनकाल में ही उन्हें छोड़कर दूसरी शादी गाँव के रहने वाले सालिकराम पुत्र फलई से कर लिया था, उनसे भी कोई संतान नही है।बड़े पिता छांगुर के भी कोई संतान नहीं थी। बड़े पिता की मृत्यु अरसा 33 वर्ष पूर्व हो चुकी है।जिससे वह उनके समस्त चल व अचल सम्पत्ति का जायज वारिस है।लेकिन छांगुर की मृत्यु के लगभग 32 वर्ष बाद तत्कालीन हल्का लेखपाल संगीता गौतम, राजस्व निरीक्षक परशुराम सिंह और प्रदीप मिश्रा ने मिलीभगत करके वजीरगंज थाना क्षेत्र के देवीनगर की रहने वाली राममुना देवी पत्नी दुलारे को मृतक छांगुर की पुत्री बनाकर उनके नाम वरासत कर दिया ।

आरोप है कि सम्पत्ति को हड़पने के लिए षड्यन्त्र रचा। जिसके बाद विपक्षी वरासत लगने के दो-तीन दिन बाद ही बीते वर्ष 4 फरवरी व एक जुलाई को भूमि का बैनामा अपने नाम करवा लिया।

जिसमे छपिया थाना क्षेत्र के भरपुरवा गांव निवासी सियाराम पुत्र रामलखन , वजीरगंज थाना क्षेत्र के देवीनगर गांव निवासी दुलारे पुत्र भूलन, जनपद के देहात कोतवाली क्षेत्र के करनपुर गांव के रहने वाले सूर्य कुमार पुत्र मंगल प्रसाद और मनकापुर कोतवाली क्षेत्र के बैरीपुर रामनाथ गांव निवासी फूलचन्द्र पुत्र खुशीराम गवाह है।आरोप है कि विपक्षीगण आराजी को हड़पने के लिए कूटरचित दस्तावेज तैयार करवाने के फिराक में है। जिसमें कुटुम्ब रजिस्टर भी शामिल है। विपक्षीगणों ने मिलीभगत करके पैतृक जमीन को हड़प करने का षड्यन्त्र रचकर जाल-फ्राड करके धोखाधड़ी का कृत्य करते हुए आर्थिक लाभ लिया गया है।

पुलिस उप महानिदेशक के आदेश अनुसार पीड़ित के शिकायती पत्र पर मनकापुर पुलिस ने तत्कालीन लेखपाल संगीता गौतम, राजस्व निरीक्षक परशुराम सिंह और प्रदीप मिश्रा सहित दर्जन भर लोगों के खिलाफ 419, 420, 467, 468, 471 और 120 बी के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है।

Tags

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Top Post Ad



 

Below Post Ad

Bottom Ad