Type Here to Get Search Results !

Bottom Ad

साक्ष्य पर आधारित है भारतीय न्याय प्रणाली:राममिलन शुक्ल


शिवेश शुक्ला 
प्रतापगढ़ | अधिवक्ता परिषद उत्तर प्रदेश प्रतापगढ़ इकाई का स्वाध्याय मंडल पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार परिषद के अध्यक्ष  महेश गुप्ता  के आयोजकत्व  में अधिवक्ता भवन के हाल में आयोजित हुआ जिसमे मुख्य वक्ता  राम मिलन शुक्ल वरिष्ठ अधिवक्ता फौजदारी ने भारतीय साक्ष्य अधिनियम की धारा 137 की मुख्य परीक्षा,प्रति परीक्षा,पुनः परीक्षा,के विषय पर विस्तृत अभिवाक् प्रस्तुत करते हुए उन्होंने कहा कि युवा अधिवक्ताओं को साक्ष्य अधिनियम की प्रत्येक धाराओं का बारीकी से अध्ययन करना चाहिए क्योंकि जिरह करना तलवार की धार पर चलने के समान होता है।क्योंकि भारतीय न्याय प्रणाली साक्ष्य पर आधारित है वकालत पेसा निरंतर सीखने का है। फौजदारी के प्रत्येक युवा अधिवक्ता को भारतीय दंड सहिता, दंड प्रक्रिया सहिंता, के साथ-साथ भारतीय साक्ष्य अधिनियम का गहनता से अध्ययन करना चाहिए जिससे वादकारी को शीघ्र न्याय प्रदान करा सकें। कार्यक्रम का संचालन महामंत्री मनोज सिंह ने किया | स्वाध्याय मंडल में प्रमुख रूप से आलोक सिंह,शिशिर शुक्ला, सतीश दुबे,विजय शुक्ला, बृजेश मिश्रा,आशीष गुप्ता, मृदुल गुप्ता,अनुराग मिश्रा, अभिषेक शर्मा,विनीत शुक्ला, किरण बाला सिंह, अंकित जायसवाल ,प्रवीण शुक्ला,उदित गिरी, अतुल कुमार सिंह,अत्री कुमार पांडे धर्मेंद्र प्रताप सिंह,प्रदीप सिंह,दीनानाथ मिश्र,अभिनव सिंह आदि अधिवक्तागण प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Top Post Ad



 

Below Post Ad

Bottom Ad