Type Here to Get Search Results !

Bottom Ad

मोतीगंज:शौहर ने मोबाइल पर बीबी से कहा तलाक,तलाक तलाक, हमने दूसरा निकाह कर लिया है,तुम भी किसी और से निकाह कर लो


यज्ञ नारायण त्रिपाठी 

मोतीगंज:गोण्डा:मुंबई से शौहर ने बीबी से फोन कर बात करते हुए तीन बार तलाक कहकर शरीयत कानून के मुताबिक अपने रिश्ते को खत्म कर दिया। 


यही नहीं शौहर ने बीबी से यह भी कहा कि उसने दूसरा निकाह कर लिया है।अब उसका पहली बीबी के साथ गुजारा नहीं हो सकता है।मामले में पीड़िता के पिता ने दहेज उत्पीड़न सहित विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया है।


मोतीगंज थाना क्षेत्र के गौरवा कानूनगो गांव निवासी जान मो० पुत्र मकसूद अली पुलिस को दिए गए शिकायती पत्र में कहा है कि उसने अपनी पुत्री उम्मेहबीबा का निकाह वर्ष 2017 के 17 मई  को मुस्लिम रीति रिवाज के अनुसार मोतीगंज थाना क्षेत्र के सिसवरिया गांव निवासी सनाउर रहमान पुत्र अजीजुर्ररहमान के साथ किया था । 


निकाह में ही अपनी पुत्री की विदाई में अपनी हैसियत के हिसाब से दान-दहेज दिया। परन्तु ससुराल वाले अत्यंत लोभी व लालची किस्म के व्यक्ति है । और वे लड़की की रुखसती के बाद से ही कम दहेज के लिए पूरे परिवार के द्वारा ताना मारना और प्रताड़ित करना और बाद में परिवार के सदस्यों के द्वारा मारना पीटना प्रारंभ कर दिया। आरोप है कि पीड़ित की पुत्री अपने माँ-बाप की आर्थिक स्तिथि को जानते हुए व पारिवारिक मामला बैठ जाएगा, इस उम्मीद से विपक्षीगण की प्रताड़ना सहती रही।  


परंतु माह अगस्त 2020 पति सनाउर रहमान पुत्र अजीजुर्रहमान, ससुर अजीजुर्रहमान पुत्र इस्तीयाक सास जैतूना पत्नी अजीजुर्रहमान, देवर इमरान पुत्र अजीजुर्रहमान, ननद सबा परवीन पुत्री अजीजुर्रहमान ने मारपीट कर घर से निकाल दिया । 


लगाए गए आरोपों के मुताबिक अजीजुर्रहमान ने धमकी दिया कि अब तुम्हे हम तभी अपने घर लायेंगे जब तुम्हारे पिता हमको मोटरसाइकिल व रु 200000 नगद लाकर देंगे नही तो हम अपने पुत्र सनाउर रहमान की शादी अन्यत्र कर देंगे। तब से पीड़ित की पुत्री मां-बाप के यहाँ जीवन यापन कर रही है। 


पीड़ित  ने कई बार अपने नाते रिश्तेदारो को ले जाकर उपरोक्त विपक्षीगणों के यहाँ पंचायत भी किया, परन्तु ससुराल वाले दहेज के लोभी होने के कारण पीड़ित व नात रिश्तेदारो की बात को भी नहीं माने। 


पीड़ित का मामला आनलाइन आवेदन प्रार्थना पत्र के माध्यम से पुलिस अधीक्षक गोंडा को दिया गया। जिस पर पारिवारिक मामला होने के कारण थाना मोतीगंज की पुलिस द्वारा सुलह समझौता कराने का बहुत प्रयास किया गया। परन्तु विपक्षी अजीजुर्ररहमान थाने पर आकर सुलह करने को तैयार नही हुआ । 


पीड़ित व उसकी पुत्री को गाली गलौज देने लगा तथा धमकी दिया कि अब तो तुम्हारी लड़की किसी भी कीमत पर हमारे घर पर नही आयेगी और मैं अपने लड़के सनाउर रहमान को भी कह दूंगा की वो तुम्हारी लड़की को कभी न लाए तथा उसे तलाक दें।


मामले में पीड़ित उसके रिस्तेदार सनाउर रहमान का भाई इमरान वह भी मुम्बई में रहता है उसके मोबाइल पर इस बाबत बात किया कि वह अपने भाई सनाउर रहमान को समझाये बुझाये और इस मामले पर सुलह समझौता करने की बात कहे। 


इमरान ने अपने भाई सनाउर रहमान से पीड़ित व उसकी पुत्री उम्मे हबीबा से बात कराई। उम्मे हबीबा से की गई बात चीत के दौरान सनाउर रहमान से कहा कि उसने दूसरी शादी कर ली है । अब हमारा और तुम्हारा एक साथ रह पाना संभव नहीं है । 


इसलिये उसने उम्मे हबीबा को मोबाइल फोन द्वारा मुस्लिम शरीयत के अनुसार सोमवार को तीन बार तलाक-तलाक-तलाक कह कर तलाक दे रहा हु । अब तुम अपना कही अलग निकाह कर लो हमारा तुम्हारा रिश्ता यही तक था, कहकर फोन काट दिया।


पीड़िता उम्मे हबीबा ने दोबारा मोबाइल पर फिर बात की। तो फिर सनाउर रहमान ने तीन बार तलाक-तलाक-तलाक कहकर कहा कि मैने तुम्हे तलाक दे दिया है। हमारे पास दोबारा फोन मत करना । 



मामले में मोतीगंज पुलिस शौहर सनाउर रहमान पुत्र अजीजुर्रहमान, ससुर अजीजुर्रहमान पुत्र इस्तियाक,सांस जैतूना पत्नी अजीजुर्रहमान, देवर इमरान पुत्र अजीजुर्रहमान और ननद सबा परवीन पुत्र अजीजुर्रहमान के विरुद्ध दहेज उत्पीड़न, मुस्लिम महिला विवाह पर अधिकारों की सुरक्षा अधिनियम 2019, गाली गलौज, जानमाल की धमकी समेत विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है।

Tags

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Top Post Ad



 

Below Post Ad

Bottom Ad