Type Here to Get Search Results !

Bottom Ad

पर्यावरण सेना के प्रयास से डॉल्फिन की जान बची


                           संबंधित वीडियो 



वन विभाग के सहयोग से गंगा नदी में छोड़ा गया,पर्यावरण सेना प्रमुख ने जिलाधिकारी, वन विभाग के अधिकारियों,पुलिस और मीडिया के प्रति आभार व्यक्त किया।

कुलदीप तिवारी 

प्रतापगढ़:लालगंज क्षेत्र के रायपुर नहर में लुप्तप्राय जलीय जीव डॉल्फिन मिलने की सूचना जब पर्यावरण सेना प्रमुख अजय क्रांतिकारी को मिली,तो उन्होंने उसके संरक्षण हेतु जिलाधिकारी प्रतापगढ़ को पत्र भेजने के साथ ही वन्य जीव अपराध नियंत्रण ब्यूरो भारत सरकार नई दिल्ली को भी फोन से सूचित किया।


इसके बाद जिला प्रशासन हरकत में आया और प्रभागीय निदेशक जगदम्बा प्रसाद श्रीवास्तव ने अपने वन विभाग की टीम के साथ मौके पहुंचे।


ग्रामीणों से डॉल्फिन को बचाने के लिए जिलाधिकारी महोदय द्वारा पुलिस फोर्स भी तैनात कर दी गई।पर्यावरण सेना प्रमुख अजय क्रांतिकारी की पहल पर रेस्क्यू टीम भी लखनऊ से रवाना हो गई।


आज प्रातः 10 बजे रेस्क्यू टीम के नेतृत्व में नहर से डॉल्फिन को ले जाकर राजभवन गंगा घाट कालाकांकर में डॉल्फिन को छोड़ दिया गया और इस प्रकार पर्यावरण सेना के प्रयास और वन विभाग के सहयोग से विलुप्त प्राय जलीय जीव डॉल्फिन को बचा लिया गया।


इस बाबत पर्यावरण सेना प्रमुख एवं वन्य जीव अपराध नियंत्रण ब्यूरो, पर्यावरण मंत्रालय भारत सरकार के वॉलंटियर अजय क्रांतिकारी ने कहा कि पर्यावरण संरक्षण के वन्य जीवों की रक्षा जरूरी है।


हमें मानव और वन्य जीवों में सामंजस्य स्थापित कर अपनी तरह वन्य जीवों के प्रति दया का भाव रखते हुए उनकी सुरक्षा करना चाहिए।जिससे हमारा पर्यावरण संरक्षित हो सके।


अभियान को सफल बनाने हेतु पर्यावरण सेना प्रमुख अजय क्रांतिकारी ने जिलाधिकारी,प्रभागीय निदेशक वन विभाग,पुलिस विभाग और मीडिया के मित्रों को धन्यवाद देते हुए आभार व्यक्त किया है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Top Post Ad



 

Below Post Ad

Bottom Ad