Type Here to Get Search Results !

Bottom Ad

धौरहरा में 64.52 प्रतिशत पड़े वोटों के बाद हार-जीत का गणित हुआ शुरू



कोई लगा रहा सट्टा तो कोई परिणाम घोषित होते ही दावत की तिथि कर रहा तय

कमलेश

धौरहरा-लखीमपुरखीरी :धौरहरा में सम्पन्न हुए निकाय चुनाव में जमकर वोटरों ने मतदान किया,नगर पंचायत  के चुनाव में गुरुवार को हुए मतदान के दौरान मतदाताओं ने घर से निकलकर बूथों पर लंबी लंबी लाइनों में खड़े होकर मतदान किया जिसके चलते नगर पंचायत में 64.52 प्रतिशत मतदान हुआ। 


मतदान के बाद मतपेटियों को स्ट्रांग रूम में जमा करवाने के बाद से ही प्रत्याशी व वोटरों ने मतगणना का इंतजार शुरू कर दिया है। यहाँ अध्यक्ष पद पर 10 तो 17 वार्डों में सभासद पद पर कुल 145 प्रत्याशी मैदान में अपना भाग्य आजमा रहे है। 


गुरुवार को हुए मतदान के बाद प्रत्याशियों की किस्मत का फैसला भले ही अब 13 मई को मतगणना के बाद होगा पर कस्बे में हार जीत के परिणामों पर से पर्दा हटाने के लिए जोड़ घटाना लगाने का कार्य अभी से शुरू हो गया है।


गुरुवार को धौरहरा नगर पंचायत में जमकर हुए मतदान के बाद से ही सभी मोहल्लों में अध्यक्ष पद व सभासद पद के प्रत्याशी और उनके समर्थक हार जीत का गणित लगाने में जुट गए। मतदान समाप्त होने के बाद से ही सभी प्रत्याशी अपने घर कार्यालय पर पहुच कर समर्थको की भीड़ एकत्रित कर अपनी अपनी हार-जीत तय करने के लिए एक-एक वोट का हिसाब लगाना शुरू कर दिया है। 


14 अप्रैल  को तहसील में निर्वाचन से सम्बंधित शुरू हुए कार्यक्रम के बाद से ही कस्बे में प्रचार शुरू हुआ तो कौन आगे है और कौन पीछे यह बहस का मुद्दा मतदान के दिन तक बना रहा। करीब 20 दिन इस परिचर्चा के बाद गुरुवार की शाम जैसे ही मतदान समाप्त हुआ बहस का मुद्दा बदल गया। 


बहस का विषय किसी के लिए जातीय समीकरण है तो कोई मतों के बिखराव को आधार बनाकर जीत-हार को अपने चश्मे से नाप रहा हैं। कुछ लोग तो मतों के प्रतिशत पर गणित बैठाकर जीत-हार का अंतर तक बताने से भी नहीं थक रहे हैं। चुनाव के धुरंधर भी परिणाम नहीं बता पाते,लेकिन समर्थकों का हौसला ही कहा जायेगा कि वे अपने उम्मीदवार की जीत का दावा करके सट्टा भी लगाने से पीछे नहीं हट रहे हैं। 


कहीं धन दाव पर लग रहा है तो कहीं परिणाम घोषित होते ही दावत की तिथि तय होने लगी है। फिलहाल कुछ भी हो पर यह 13 मई को ही सामने आ सकेगा कि कौन जीता और कौन हारा,लेकिन इतना तो तय है कि कस्बे में हो रही यह बहस अब चुनाव परिणाम घोषित होने के बाद ही थमेगी।


 बताते चले कि धौरहरा नगर पंचायत में अध्यक्ष पद पर राजनैतिक पार्टियों समेत निर्दलीय कुल 10 प्रत्याशी व 17 वार्डों में सदस्य पदों के लिए 145 प्रत्याशियों के लिए हुआ मतदान गुरुवार को शांतिपूर्ण संपन्न हो गया। यहाँ सुबह सात बजे से सभी 9 मतदेय केंद्रों के 33 मतदान केंद्रों पर मतदान शुरू हुआ, जो सायं तक चलता रहा। इस दौरान सभी जगह दिन भर मतदाताओं की लाइन लगी रही। बुजुर्ग व युवा मतदाताओं में भी जोश दिखा। 


सुबह पहले दो घंटे के अंदर ही जमकर मतदान हुआ जो सायं तक आखिरी घंटे में बढ़कर 64 प्रतिशत से अधिक पर पहुंच गया। इस दौरान सुरक्षा व्यवस्था की कमान सीओ पीपी सिंह की अगुवाई में थानाध्यक्ष ईसानगर पंकज त्रिपाठी ,कोतवाल धौरहरा विवेक उपाध्याय,खमरिया थानाध्यक्ष शिवाजी दुबे समेत अन्य की मौजूदगी में चप्पे चप्पे पर पुलिस के जवानों को तैनात कर स्वयं सीओ हर एक बूथ पर नजर बनाए रहे, जिसके चलते कहीं भी किसी भी तरह की अप्रिय घटना नहीं हो पाई।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Top Post Ad



 

Below Post Ad

Bottom Ad