Type Here to Get Search Results !

Bottom Ad

गोंडा में विश्वविद्यालय को लेकर बोले सांसद बृजभूषण शरण सिंह ,सांसद सुप्रिया सुले, दानिश अली पर कसा तंज


                                    वीडियो


फराज अंसारी 

बहराइच जनपद के हो हुजूरपुर रामलीला मैदान में आयोजित प्रतिभा सम्मान समारोह को संबोधित करने पहुंचे सांसद बृजभूषण शरण सिंह ncp सांसद सुप्रिया सुले, सांसद दानिश , गोंडा में विश्वविद्यालय और इंडिया गठबंधन को लेकर बड़ी बात कही है।

भाजपा सांसद बृजभूषण शरण सिंह ने गठबंधन पर तंज कसते हुए कहा कि गठबंधन मोदी जी के विरोध में बन रहा है । उन्होंने कहा कि मोदी जी की सरकार को पुनःबनना है। तमाम ऐसी बातें हैं जो सामने आना बाकी है। घोसी चुनाव का जवाब देते हुए कहा कि चुनाव में जनता पार्टी से नहीं बल्कि उम्मीदवार से नाराज थी । उन्होंने कहा कि लोकसभा स्पीकर के संज्ञान में एन सी पी सांसद सुप्रिया सुले का बयान है।सांसद सुप्रिया सुले को ऐसा बयान कतई नहीं देना चाहिए था। गोंडा जनपद में मां पाटेश्वरी विश्वविद्यालय को लेकर हो रही मांग में सपा के धरना प्रदर्शन और उनके बयान को लेकर सांसद ने कहा कि यह परंपरा तो सपा ने ही डाला है। उन्होंने कहा कि गोंडा जनपद के लिए एक मेडिकल कॉलेज आया था जो बहराइच पहुंच गया । तब उत्तर प्रदेश में सपा की सरकार थी। उन्होंने बिना नाम लिए यह भी कहा कि एक मंत्री के दबाव में मेडिकल कॉलेज गोंडा से बहराइच चला गया। देवीपाटन मंडल को देना मुख्यमंत्री का विशेषाधिकार है। उन्होंने बलरामपुर को दिया है जिस पर हम कोई टिप्पणी नहीं करेंगे। बलरामपुर में विश्वविद्यालय बनवाने के लिए समाजवादी पार्टी के नेता एसपी यादव ने मांग की थी। श्री सिंह ने कहा कि आप सैफई देखिए! सैफई से तुलना करेंगे तो वहां पर क्या नहीं है? वहां मेडिकल कॉलेज, एयरपोर्ट उपलब्ध है। मुख्यमंत्री जो भी आदित्यनाथ जी को बलरामपुर जनपद से लगाओ है तो इसमें दिक्कत क्या है? बलरामपुर जनपद ही देवीपाटन मंडल के अंतर्गत ही है। बलरामपुर से ही मुख्यमंत्री का लगाव के सवाल पर जवाब देते हुए सांसद ने कहा कि मुख्यमंत्री पूरे प्रदेश का होता है। पूर्वांचल की भाई जिम्मेदारी लोकसभा चुनाव में हुई कि होती है मेरे ऊपर कोई जिम्मेदारी नहीं होती है। उन्होंने कहा कि आगामी लोकसभा चुनाव में इतनी सीटें भाजपा की झोली में आएंगी इसका पता खुलना बाकी है लेकिन यह कह सकते हैं कि वर्ष 2024 के लोकसभा चुनाव में मोदी जी के नेतृत्व में ही सरकार बनेगी।

सांसद ने तंज कसते हुए कहा कि इंडिया गठबंधन किसके नेतृत्व में एकजुट हो रहा है इसका पता नहीं चल रहा है। उन्होंने कहा कि सन 1975 में जब इंदिरा गांधी ने इमरजेंसी लगाई थी, तब लोकनायक जयप्रकाश नारायण के नेतृत्व में एक गठबंधन बना था जिसका नाम जनता पार्टी था। लेकिन उसका हश्र क्या हुआ। महाद एक दो साल में ही दो दो प्रधानमंत्री हुए। सांसद में कहा कि इंडिया गठबंधन अपने नेतृत्व का फैसला नहीं कर पाएगा। सांसद बृजभूषण शरण सिंह ने सवाल के जवाब में कहा कि लोकसभा के अंदर सबसे गैर जिम्मेदारी से बात करने वाले सांसद का नाम है दानिश अली यह सबके भाषण पर टीका टिप्पणी करते हैं।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Top Post Ad



 

Below Post Ad

Bottom Ad