Type Here to Get Search Results !

Bottom Ad

गोण्डा:पुलिस ने कार चालक की हत्या का किया खुलासा,दो आरोपी गिरफ्तार


                                     वीडियो


पं बगीश तिवारी

गोण्डा:रेलवे स्टेशन पर संदिग्ध अवस्था में खड़ी मिली कार के चालक की हत्या कर शव को नवाबगंज पुलिया के नीचे फेंके जाने के मामले में पुलिस ने पुलिस ने दो अंतर राज्यीय अभियुक्तों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।



बीते 27 सितंबर को गोंडा जंक्शन के रेलवे प्लेटफार्म के बाहर संयुक्त कार्यालय के पास एक लावारिस एटियोस कार खड़ी पाई गई थी। तथा कार की सीट पर खून के छींटे देखे गए थे। जिससे यह आशंका हो रही थी कि कहीं चालक की हत्या कर बदमाशों ने गाड़ी को अपने कब्जे में ले लिया था पुलिस द्वारा इस पूरे प्रकरण की जांच की जा रही थी। 


जांच के दौरान पता चला कि यह कार महाराजगंज जनपद के कोल्हईपुर गांव के वीरेंद्र सिंह के नाम से रजिस्टर्ड है। 26 सितंबर की रात्रि 10 बजे के आसपास गोरखपुर से महाराजगंज के लिए इसे बुक कराया गया है। पुलिस इसकी खोजबीन कर रही थी कि 30 सितंबर को नवाबगंज थाना क्षेत्र के नकहा पुल के नीचे कार चालक मोहम्मद इरफान का शव पानी में उतराता मिला। 


लोगों की सूचना पर पहुंची पुलिस द्वारा जांच पड़ताल के दौरान पता चला कि रेलवे स्टेशन पर लावारिस हालत में मिली कार के चालक का शव है। फिलहाल पुलिस द्वारा मृतक के परिजनों को सूचना दी गई। मौके पर पहुंचे मृतक के परिजनों को पोस्टमार्टम के बाद शव को सौंप दिया गया। 


तब से पुलिस इस हत्या की गुत्थी समझाने का प्रयास कर रही थी। पुलिस द्वारा इलेक्ट्रॉनिक साक्ष्यों के आधार पर हत्यारों की खोजबीन की जा रही थी। जिसके क्रम में पुलिस को परत दर परत सुराग मिलते रहे। चालक के हत्या के इस मामले में पुलिस ने उत्तराखंड प्रदेश के उधम सिंह जनपद के थाना गदरपुर के गांव रोशनपुर निवासी कवल सिंह पुत्र सुखदेव सिंह तथा इसी जनपद के थाना दिनेशपुर के वार्ड नंबर 3 निवासी टोनी शेरगिल उर्फ श्रवण सिंह पुत्र सरदार भोला सिंह को गिरफ्तार किया है।


 पुलिस द्वारा कड़ाई से पूछताछ के दौरान हत्या आरोपी अभियुक्तों द्वारा बताया गया कि उन लोगों द्वारा वाहन लूटने के उद्देश्य से गोरखपुर से इसे बुक कराया गया था। तथा रात्रि में नवाबगंज के पास चालक की हत्या कर शव को फेंक दिया गया। और कार को लाकर रेलवे स्टेशन के पास खड़ी कर फरार हो गए थे।


इस संबंध में अपर पुलिस अधीक्षक शिवराज ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर घटना का खुलासा करते हुए बताया कि नवाबगंज के पास चालक का शव मिलने के मामले में प्रभारी निरीक्षक कोतवाली नगर व स्वाट तथा सर्विस लांस टीम के द्वारा उत्तराखंड के उधम सिंह जनपद के रहने वाले दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है।


 यह लोग गोरखपुर जनपद में रेलवे स्टेशन के पास 2 दिनों से रुके हुए थे। कि मौका मिलते ही कोई वारदात की जाए। जब वहां सफल नहीं हुए तो गोरखपुर से लखनऊ के लिए कार बुक कराया रास्ते में चालक ने गाड़ी में डीजल डालने की बात कही तो इन लोगों द्वारा उसे मारा पीटा गया बचाव में उसने भी बल प्रयोग किया तो इन लोगों द्वारा मारकर उसे पीछे सीट पर लिटा दिया गया।


 फिर मौका पाते ही नवाबगंज पुलिया के पास शव को फेंक दिया गया। रेलवे स्टेशन के पास गाड़ी को खड़ा कर ट्रेन से चले गए थे। रास्ते में इनके नंबर से चालक ने एक बार अपनी मोबाइल रिचार्ज करने के लिए मालिक के पास फोन किया था। 


जब उस नंबर को सर्विलांस पर लगाया गया तो उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, बिहार, छत्तीसगढ़, में मोबाइल के लोकेशन मिले। इनके साथ गाड़ी में दो और लोग थे उनकी तलाश की जा रही है। बड़ी मुश्किल से इनकी गिरफ्तारी हुई है। और घटना का खुलासा किया जा रहा है।

Tags

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Top Post Ad



 

Below Post Ad

Bottom Ad