Type Here to Get Search Results !

Bottom Ad

बस्ती मे फर्जी रजिस्ट्री करवाने वाले चार भू-माफियों पर संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज



पीड़ित ने एसपी और एएसपी से लगाई थी न्याय की गुहार, बस्ती के कोतवाली में दर्ज हुआ मुकदमा

 सुनील उपाध्याय

बस्ती। जिले में धोखाधड़ी कर फर्जी रजिस्ट्री करवाने वाले चार भू-माफियों पर कोतवाली थाने की पुलिस ने संगीन धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया है।


पीड़ित की तहरीर पर कोतवाली थाने की पुलिस ने भू-माफिया जामडीह पांडेय हवेली निवासी रविपाल सिंह पुत्र भूपाल सिंह, चैनपुरवा पुरानी बस्ती निवासी धीरज शुक्ला पुत्र विनय शुक्ला, दाउद पट्टी पोस्ट मझौवामीर निवासी धर्मेंद्र शुक्ला पुत्र श्यामा प्रसाद और सिविल लाइन छोटी धानमारी कोतवाली निवासी राजू गौड़ पुत्र राम लाल पर धारा 419, 420, 467, 468, 471 व 506 धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज करके जांच शुरू कर दी है।


बस्ती सदर के गांव वरहुंचा निवासी पीड़ित राधेश्याम व रामदयाल पुत्रगण स्व0 रामनरायन और मुराती देवी पत्नी स्व0 राम नरायन ने बस्ती पुलिस अधीक्षक और अपर पुलिस अधीक्षक को तहरीर देकर बताया कि उनका ग्राम सेखुई के गाटा संख्या-138 / 0.4440 हे0 खेत है, जिसकी बिक्री के लिए जामडीह पांडेय हवेली निवासी रविपाल सिंह पुत्र भूपाल सिंह से सात लाख रुपये में सौदा तय हुआ था। 


रविपाल सिंह ने 8 अप्रैल 2022 को पीड़ित के घर आकर, उनकी माता और भाई को स्कॉर्पियो में बैठाकर सदर रजिस्ट्री ऑफिस ले जाकर धोखे से दूसरे गाटा नंबर संख्या-207 / 0.2510 हे0 को रजिस्ट्री करवा लिए। 


इसके साथ ही चैनपुरवा थाना पुरानी बस्ती निवासी धीरज शुक्ला पुत्र विनय शुक्ला ने अन्य गाटा संख्या-6 / 0.2510 हे0 को रजिस्ट्री करवा लिए। जबकि, धीरज शुक्ला से उनकी कोई भी बात नहीं हुई थी और रविपाल से केवल गाटा नंबर 138/0.4440 हे0 को बेचने के लिए बात हुई थी। 


इससे पहले इन सभी ने मिलकर 10 फरवरी 2022 को पीड़ित के घर में आग लगाई थी, जिससे पीड़ित का घर जलकर राख हो गया था। उसके बाद घर बनवाने के लिए खेत बेचने का इन सभी लोगों ने दबाव बनाया था। उसके बाद इन सभी लोगों ने मिलकर पीड़ित राधेश्याम के साथ यह धोखाधड़ी करते हुए रजिस्ट्री करवाए हैं। 


इसमें रविपाल सिंह, धीरज शुक्ला के अलावा कृष्ण कुमार पुत्र वंश राज, मंटू उर्फ सौरभ खान पुत्र रुस्तम खान भी मिले हैं। आरोप है कि रजिस्ट्री के समय रजिस्ट्रार या अन्य अधिकारी द्वारा राधेश्याम का बयान नहीं लिया गया था कि वह कौन सा गाटा संख्या बेच रहे हैं। 


बताया कि उन्होंने रजिस्ट्रार से बोला भी था कि मुझे रजिस्ट्री पढ़कर सुनाया जाए, क्योंकि, वह अनपढ़ हैं, लेकिन किसी भी अधिकारियों ने उनकी बात नहीं सुनी। बताया कि रजिस्ट्री में सभी गवाह और वकील भी रविपाल सिंह के ही थे। 


रजिस्ट्री के करीब 10 दिन बाद जब उन्हें पता चला कि रविपाल सिंह ने गाटा संख्या 138 के बजाय 207/0.2510 हे0 और व धीरज शुक्ला ने गाटा संख्या 6/0.2510 हे0 को रजिस्ट्री करवा लिए हैं। तो रजिस्ट्री कैंसल करवाने को लेकर संबंधित अधिकारियों से शिकायत करके रजिस्ट्री कैंसल करवाने की मांग की, लेकिन अभी तक उनकी रजिस्ट्री कैंसल नहीं हुई है। 


पीड़ित राधेश्याम में बस्ती पुलिस अधीक्षक और अपर पुलिस अधीक्षक से शिकायत करके न्याय की गुहार लगाई। अपर पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर कोतवाली थाने की पुलिस ने भू-माफिया जामडीह पांडेय हवेली निवासी रविपाल सिंह पुत्र भूपाल सिंह, चैनपुरवा पुरानी बस्ती निवासी धीरज शुक्ला पुत्र विनय शुक्ला, दाउद पट्टी पोस्ट मझौवामीर निवासी धर्मेंद्र शुक्ला पुत्र श्यामा प्रसाद और सिविल लाइन धानमारी कोतवाली निवासी राजू गौड़ पुत्र राम लाल पर धारा 419, 420, 467, 468, 471 व 506 धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज करके जांच शुरू कर दी है। 


कोतवाल ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है। उक्त आरोपित को जल्द ही गिरफ्तार करके जेल भेजा जाएगा।

Tags

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Top Post Ad



 

Below Post Ad

Bottom Ad