Type Here to Get Search Results !

Bottom Ad

प्रतापगढ़:पटाखों की विक्री खुले एवं सुरक्षित स्थानों पर ही हो:जिला मजिस्ट्रेट



वेदव्यास त्रिपाठी 

प्रतापगढ़। जिला मजिस्ट्रेट डा0 नितिन बंसल ने अधिकारियों को निर्देशित किया है कि इस वर्ष भी दीपावली व छठ के अवसर पर सुरक्षित रूप से पटाखों का निर्माण, भण्डारण, विक्रय तथा उपयोग सुनिश्चित किया जाये, यह प्रयास हो कि कहीं पर भी वायु की गुणवत्ता प्रतिकूल रूप से सम्भावित न हो तथा यथा सम्भव अधिक से अधिक ग्रीन क्रैकर्स का प्रयोग किया जाये एवं पटाखों की विक्री खुले एवं सुरक्षित स्थानों पर ही हो तथा उस स्थान की जांचोपरान्त पटाखों के निर्माण एवं भण्डारण के श्रोत की भी समय से जांच कर ली जाये ।


ताकि कहीं भी किसी अप्रिय स्थिति का सामना न करना पड़े। साथ ही साथ यह भी सुनिश्चित कर लिया जाये कि कहीं भी पटाखों का व्यवसाय करने वालों व आम जनमानस को कोई असुविधा एवं उत्पीड़न तो नहीं हो रहा है। 


उन्होने कहा है कि विस्फोटक नियम 2008 के नियम 84 के अन्तर्गत विशेष ध्यान देना आवश्यक है जिसके अन्तर्गत आतिशबाजी को सुरक्षा एवं अज्वलनशील सामग्री से बने शेड में रखा जाये। 


आतिशबाजी का अस्थाई दुकान एक दूसरे से 3 मीटर की दूरी पर एवं किसी सुरक्षित स्थल से 50 मीटर की दूरी पर होगी। यह अस्थाई दुकाने एक दूसरे के आमने-सामने नहीं होगी। सुरक्षा दूरी के अन्दर एवं इन दुकानों में प्रकाश हेतु किसी प्रकार का तेल लैम्प, गैस लैम्प एवं खुली बिजली बत्तियों का प्रयोग नहीं होगा। 


यदि किसी बिजली की लाइन का प्रयोग किया जाता है तो ऐसे या तो दीवार पर या छत पर दृढ़ता से लगाना होगा एवं किसी प्रकार के तार लटके नहीं होगी। 


इन बत्तियों के लिये स्विच दीवार पर लगाने होगें। इन बत्तियों के लिये स्विच दीवार पर लगाने होगें एवं एक पंक्ति की भी दुकानों के लिये मास्टर स्विच लगाना होगा। किसी दुकान के 50 मीटर के अन्दर आतिशबाजी का प्रदर्शन प्रतिबन्धित होगा। 


प्रत्येक मास्टर स्विच से फ्यूज या सर्किट ब्रेकर लगा होना चाहिये जिससे की शार्ट सर्किट होने पर विद्युत प्रवाह स्वतः ही बन्द हो जाये। उन्होने सभी सम्बन्धित को निर्देशित किया है कि अपने-अपने क्षेत्रान्तर्गत भ्रमण कर यह सुनिश्चित करें कि आतिशबाजी लाइसेन्सी द्वारा निर्धारित क्षमता एवं मानक के अनुरूप ही व्यवसाय कार्य किये जाये, अवैध भण्डारण अथवा मानक के अनुरूप न पाये जाने पर तत्काल नियमानुसार आवश्यक कार्यवाही करते हुये निरस्तीकरण की आख्या प्रेषित करें।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Top Post Ad



 

Below Post Ad

Bottom Ad