Type Here to Get Search Results !

Bottom Ad

बस्ती:सरस्वती विद्या मंदिर रामबाग में प्रतिभाओं का सम्मान हुआ।



बस्ती। सरस्वती विद्या मंदिर वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय रामबाग में आज प्रतिभा सम्मान कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें इस वर्ष अनेक क्षेत्रों में चयनित विद्या मंदिर रामबाग के पूर्व छात्रों का सम्मान किया गया। कार्यक्रम में ये पूर्व-छात्र और उनके माता-पिता उपस्थित रहे।


कार्यक्रम में जिन भैयाओं को सम्मानित किया गया, उनमें भैया विपुल श्रीवास्तव, गोविंद नारायण सिंह, मयंक चैधरी, अभिषेक चैधरी, ईशान पाण्डेय, गौरव पाण्डेय, सौरभ चैधरी, प्रांजल शुक्ल, वेदांग पाल और उमंग पाठक शामिल रहे। विपुल श्रीवास्तव एनटीपीसी झज्जर हरियाणा में एग्जीक्यूटिव इंजीनियर पद हेतु, गौरव पाण्डेय भारतीय अभियंत्रिकी सेवा, उमंग पाठक विद्युत विभाग में सहायक अभियंता, गोविन्द नारायण सिंह और ईशान पांडेय पॉलिटेक्निक में लेक्चरर, मयंक चैधरी और अभिषेक चैधरी उत्तर प्रदेश अभियंत्रण सेवा के अंतर्गत सहायक अभियंता, और सौरभ चैधरी तथा रुद्रांश कसौधन नीट के माध्यम से मेडिकल क्षेत्र में चयनित हुए हैं। 


इसी प्रकार प्रांजल शुक्ला तथा वेदांग पाल का मदन मोहन मालवीय तकनीकी विष्वविद्यालय गोरखपुर में चयन हुआ है।


कार्यक्रम में भैया गोविंद नारायण सिंह ने इस सफलता हेतु अपने गुरुजनों को भी श्रेय दिया है और कहा कि इस पड़ाव पर पहुंचने हेतु सरस्वती विद्या मंदिर रामबाग बस्ती ने जो आधारशिला रखी थी, उसी के आधार पर हम इतनी ऊंचाई तक पहुंचे हैं। 


उन्होंने यहां के अनुशासन को महत्वपूर्ण बताया और यह भी कहा कि हमें जो चीजें यहां मिली हैं, चीजें कभी नहीं मिलेंगी। इसी प्रकार उमंग पाठक ने कहा कि अभिभावक और छात्र, आचार्य तथा अच्छे मित्र यह किसी बालक के विकास में सहयोगी होते हैं। 


सफल होने के लिए अनुशासित होना और नियमितता बनाए रखना आवश्यक है। हमें निरंतर अपनी गलतियों में सुधार करना चाहिए और एक बार मेहनत कर लेने पर सफलता मिलती रहती है। हमें केवल एक बार मेहनत करनी होगी। 


भैया मयंक चैधरी ने विद्यालय के छात्रों से कहा कि आप औरों के मुकाबले एक कदम आगे हैं, क्योंकि आप विद्या मंदिर में पढ़ रहे हैं और यहां का अनुशासन व संस्कार आपको और आगे ले जाने में सहायक होंगे। 


पूर्व छात्र भैया अभिषेक चैधरी के अभिभावक एवं सेक्सरिया इंटर कॉलेज के भौतिकी के प्रवक्ता रामकेश चैधरी ने कहा कि माता पिता और गुरुजनों का सम्मान, आज्ञा पालन, नियमित अध्ययन करके और समय का सदुपयोग करके हम आगे बढ़ सकते है।ं  

  

इस अवसर पर विद्यालय के प्रधानाचार्य  अरविंद सिंह ने कहां कि आज का दिन बहुत ही महत्वपूर्ण दिन है, क्योंकि आज पूर्व छात्र, अभिभावक और वर्तमान छात्र, आचार्य सभी का संगम हो रहा है । ऐसे कार्यक्रमों का उद्देश्य होता है। 


हमारे विद्यालय के आचार्य, पूर्व छात्रों से संपर्क बनाए रखते हैं और उनकी उपलब्धियों पर उन्हें सम्मानित किया जाता है। इनसे वर्तमान छात्रों को भी प्रेरणा मिलती है और पूर्व छात्र भी उत्साहित होते हैं। 


उन्होंने वर्तमान छात्रों से भी अनुशासन में रहने, नियमितता बनाए रखने और नियमित अध्ययन की आवश्यकता पर बल दिया, क्योंकि इससे ही सफलता मिलती है। उन्होंने आगंतुकों के प्रति आभार भी व्यक्त किया। 


इस अवसर पर विद्यालय के संगीत टोली ने गीत भी प्रस्तुत किए। कार्यक्रम का संचालन विद्यालय के वरिष्ठ आचार्य राजीव श्रीवास्तव ने किया। 


कार्यक्रम में विद्यालय के आचार्य विजय प्रताप पाठक, शैलेन्द्र त्रिपाठी, विनोद सिंह, अश्वनी पाण्डेय, उपेंद्र नाथ द्विवेदी, अंकित कुमार गुप्ता, आशीष सिंह, रणजीत सिंह आदि उपस्थित रहे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Top Post Ad



 

Below Post Ad

Bottom Ad