Type Here to Get Search Results !

Bottom Ad

लालगंज:संदिग्ध दशा में युवक की मौत पर बवेला, मशक्कत में जुटी खाकी



कुलदीप तिवारी 

लालगंज, प्रतापगढ़। संदिग्ध परिस्थितियों में युवक की मौत को लेकर पुलिस आत्महत्या अथवा हत्या की आशंका में मशक्कत कर रही है। घटना की जानकारी मिलने पर सीओ लालगंज रामसूरत सोनकर भी गांव पहुंचे। सीओ ने ग्रामीणों से घटना को लेकर जानकारी जुटाने का प्रयास किया। लीलापुर थाने के ओरी का पुरवा निवासी रामदीन वर्मा राजमिस्त्री का काम करता है। 



रामदीन का इक्कीस वर्षीय पुत्र सोनू मंगलवार की रात खाना खाकर घर के बाहर सो गया। बुधवार की सुबह सोनू का शव उसके घर से करीब सौ मीटर दूर बाग में एक पेड़ पर फंदे से लटकता मिला। शौच गये किसी ग्रामीण ने सोनू का शव फंदे से लटकता देखा तो उसके घर घटना की सूचना दी। रोते बिलखते परिजन घटनास्थल पहुंचे तो सोनू का शव देखकर विलाप करने लगे। 



परिवार के लोग मौके पर पहुंची पुलिस से सोनू की हत्या की आशंका जताने लगे। पुलिस ने पीएम के बाद स्थिति स्पष्ट होने पर परिजनों को दिलाशा दिया। तब परिजन शव को पेड़ पर अधिक ऊंचाई पर लटकता देख जांच की मांग करने लगे। इस पर पुलिस ने फोरेंसिक टीम बुलवाई तब शव को नीचे उतारा जा सका। इस पर परिजन की मौजूदगी में शव का पुलिस ने पंचनामा किया। 



शव पीएम के लिए भेजा गया। अपरान्ह मृतक का शव पीएम होने के बाद घर लेकर लौटे। परिजनों ने पुलिस को सोनू की मौत को लेकर नामजद आरोपियों के खिलाफ हत्या की तहरीर सौंपी। इधर पुलिस जांच कर कार्रवाई पर अड़ी रही। तब आक्रोशित परिजनों ने बर्फ मंगवाकर मृतक के शव को दरवाजे पर रख दिया। 



परिजन मुकदमा लिखे जाने की शर्त पर ही अंतिम संस्कार की जिद पर अड़ गये। मृतक सोनू दो भाईयों मे छोटा था। लीलापुर प्रभारी निरीक्षक सुभाष यादव का कहना है कि पीएम रिर्पोट आने के बाद मौत का कारण पता लगने पर कार्रवाई की जाएगी। गांव मे सोनू की मौत को लेकर तरह तरह की चर्चा का माहौल देखा गया। 



चर्चा यह भी थी कि मृतक सोनू ने यदि आत्महत्या किया तो रस्सी कहां से आयी। वहीं यह भी चर्चा रही कि गांव का ही सोनू गिरि आठ माह पूर्व संदिग्ध दशा में गोली लगने से घायल हुआ था। इस पर विपक्षियों की तहरीर पर मृतक सोनू वर्मा समेत तीन लोगों पर पुलिस ने हत्या के प्रयास का केस भी दर्ज किया था। 


अभी हाल ही में माह भर पहले मृतक सोनू वर्मा जमानत पर रिहा होकर घर आया था। सोनू वर्मा के जमानत पर घर आने के माह भर के अंदर ही उसकी संदिग्ध मौत हत्या का सवाल खड़ा कर गयी है।

Tags

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Top Post Ad



 

Below Post Ad

Bottom Ad