BALRAMPUR... रामायण वाटिका मे वृक्षारोपण करके मनाया राखी का त्यौहार



अखिलेश्वर तिवारी
जनपद बलरामपुर मे विकास खंड सदर के बैजपुर मार्ग पर स्थित राधेश्याम नगर में 31 अगस्त बृहस्पतिवार को रामायण वाटिका मे रक्षाबंधन के दिन वृक्षारोपण किया गया। इस अवसर पर डेंटल सर्जन सीवी सिंह, शिक्षक व समाजसेवी रवि कृष्णा मिश्र, लोहिया क्रांति अखबार के उप संपादक अखिलेश्वर तिवारी, जन एक्सप्रेस अखबार के ब्यूरो चीफ अवधेश मणि तिवारी, इंडिया टीवी के ब्यूरो चीफ आनंद मणि तिवारी, राधेश्याम वर्मा, बाबूलाल गुप्ता, अम्बुज भार्गव, बलराम वर्मा व मो समीर सहित राधेश्याम नगर के अनेक जनों की उपस्थिति रही। सर्वप्रथम नगर के चौराहे पर पीपल के वृक्ष का रोपण कर पूजन अर्चन किया गया। इसके पश्चात नीम, सहजन, अमरूद सहित कई प्रकार के वृक्षों का रोपण किया गया।


सर्जन सीवी सिंह ने उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि पृथ्वी पर हम जिस पर्यावरण में रहते हैं, उस पर्यावरण में सभी जीवों को मिलाकर प्रकृति द्वारा एक पारिस्थितिक तंत्र बनाया गया है। जिसमें जीवों की एक बड़ी शृंखला है और इस श्रृंखला में सभी जीवों का आधार पेड़-पौधे ही है। समाजसेवी शिक्षक श्री मिश्र ने कहा कि लाखों प्रकार के जीव ऐसे हैं, जिनकी आहार श्रृंखला पेड़-पौधे पर ही आधारित होती है। इस पृथ्वी पर जीवन के लिए सबसे महत्त्वपूर्ण तत्व ऑक्सीजन है, जो कि पेड़-पौधों से ही प्राप्त होता है। हमारे पर्यावरण को संतुलित बनाए रखने में पेड़-पौधों की महत्त्वपूर्ण भूमिका होती है।




उप संपादक श्री तिवारी ने कहा कि सामाजिक रूप से प्रकृति के संरक्षण की स्वीकार्यता सनातन के धार्मिक मान्यता का अंग हुआ करता था। लेकिन समय के साथ सभ्यताओं में भी प्रदूषण उत्पन्न हुआ। जिसके कारण यह हमारे धार्मिक मान्यताओं से कुछ दूर हुआ है, जो कि चिंता जनक है। किंतु हम लोग आए दिन वृक्षारोपण करते रहते हैं। उन्होंने कहा कि हमारे भारतीय समाज के लोगों को को अपने जन्मदिवसों पर एक वृक्ष का रोपण अवश्य करना चाहिए जिससे हमारे आने वाली पीढ़ियों को ऑक्सीजन की किल्लत न झेलनी पड़े। कहा जाता है कि एक वृक्ष 100 पुत्र समान । वृक्ष धरा के हैं आभूषण, जो दूर करते हैं प्रदूषण ।

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने