Type Here to Get Search Results !

Bottom Ad

ट्रेन में महिला हेड कॉन्टेबल पर हमले के मामले में एसटीएफ के डीआईजी की अगुवाई में टीम ने की जांच पड़ताल , मातहतो को दिये आवश्यक निर्देश



दिनेश कुमार 

गोंडा। सरयू एक्सप्रेस में रक्षाबंधन के एक दिन पूर्व महिला हेड कांस्टेबल पर जानलेवा हमले के मामले की जांच के लिए एसटीएफ के डीआईजी अनंत देव तिवारी की अगुवाई में पहुंची जांच टीम ने घंटों जांच पडताल पड़ताल की। इसके बाद आवश्यक दिशा निर्देश देकर चले गये। 


इलाहाबाद हाईकोर्ट के कड़े रुख के बाद पुलिस पर मामले के खुलासे का दबाव बढ़ गया है। हालांकि महिला हेड कांस्टेबल पर हमले के मामले में अफसर की क्लू  मिलने की बात कह रहे है। बताया जा रहा है कि अस्पताल में भर्ती महिला हेड कांस्टेबल ने ईशारो ईसारो  में हमलावरों के बारे में कुछ बता दिया हैं। 



गुरुवार शाम को मामले की पड़ताल के लिए    डीआईजी एसटीएफ अनंत देव तिवारी लखनऊ से टीम के साथ मनकापुर रेलवे स्टेशन पहुंचे। टीम ने चार बजे से साढे पांच बजे तक प्लेटफार्म, आरपीएफ पोस्ट पर लगे सीसीटीवी कंट्रोल कक्ष, प्लेटफार्म नम्बर पांच का बारीकी से निरीक्षण किया। प्लेट फार्म पर लगी अयोध्या पैसेन्जर ट्रेन में चढकर कुछ पडताल किया।इसके बाद टीम कोतवाली मनकापुर पहुंची जहां एसटीएफ के डीआईजी ने अधीनस्थो के साथ   घटना को लेकर चर्चा की। हालांकि इस बारे में उन्होंने कुछ भी बताने से साफ इनकार कर दिया है। इस दौरान जीआरपी गोंडा के प्रभारी निरीक्षक दिनेश कुमार सिंह, प्रभारी निरीक्षक जीआरपी गाजीपुर सिटी अखिलेश मिश्रा, प्रभारी निरीक्षक रेलवे सुरक्षा बल मनकापुर उदय राज, चौकी प्रभारी जीआरपी मनकापुर हरिनाथ यादव ,कोतवाल मनकापुर सिविल पुलिस सुधीर कुमार सिंह,कस्बा चौकी प्रभारी अंकित सिंह,हे का0 शत्रुधन,आदि उपस्थित रहे। इस घटना के संबंध में  वरिष्ठ मंडल सुरक्षा आयुक्त आरपीएफ लखनऊ चंद्र मोहन मिश्र और 

सहायक सुरक्षा आयुक्त आरपीएफ गोंडा राजीव उपाध्याय ने भी स्टेशन का जायजा लिया था। और मेहनत करके इस घटना को  आरपीएफ भी इस खुलासे के लिए रात - दिन जांच पडताल में जुटी हुई है।उधर बीते सोमवार की देर रात लखनऊ से एसटीएफ की टीम एक इंस्पेक्टर  वेद प्रकाश श्रीवास्तव की अगुवाई में यहां पहुंची थी। जांच पडताल करने के बाद वापस चली गयी थी आज पुनः अपने एसटीएफ डीआईजी के साथ  एसटीएफ के तमाम लोग मनकापुर जांच पडताल करने आये थे। उधर मिली जानकारी के अनुसार पूर्व में तैनात जीआरपी कैंट के प्रभारी निरीक्षक पप्पू यादव को लापरवाही बरतने के मामले जीआरपी एसपी पूजा लखनऊ पूजा यादव ने  लाइन हाजिर कर दिया है। बताते चले कि मनकापुर से अयोध्या के बीच सरयू एक्सप्रेस में सुल्तानपुर में तैनात महिला हेड कांस्टेबल पर कुछ अज्ञात लोगों ने हमला कर दिया था। इसमें महिला हेड कांस्टेबल गंभीर रूप से घायल हो गई थी। सरयू एक्सप्रेस के अयोध्या पहुंचने पर खून से लथपथ महिला हेड कांस्टेबल को उतारा गया था। फिलहाल उसका इलाज लखनऊ के ट्रामा सेंटर में चल रहा है। इस घटना के खुलासे के लिए क्षेत्र के तमाम अपराधिक किस्म के लोगो से भी पुलिस पूछताछ कर रही है लेकिन सफलता हाथ अभी तक नही लग पायी है।

महिला हेड कांस्टेबल एक तेज  खिलाडी भी हैः

 प्रयागराज जनपद के थाना सोरांव के गांव भदरी निवासिनी हेड कांस्टेबल  जो घायल अवस्था में अस्पताल में भर्ती है। उसके भाई सचिन पटेल  ने फोन पर  बताया कि मेरी बहन एक अच्छी रेसर,बाक्सर तथा कब्बड्डी की खिलाडी रह चुकी है। और यूपी पुलिस में कार्यरत है।कम से कम 20 से 25 मेडल पायी है जो घर पर  रखा है। हमारी यही बहन घर की पूरी देखभाल करती थी। जिसके साथ घटना हो जाने से हमारा परिवार बहुत परेशान है।

Tags

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Top Post Ad



 

Below Post Ad

5/vgrid/खबरे