सफाई कर्मचारी पर जानलेवा हमला करने वाला आरोपी ग्रिफ्तार


अखिलेश्वर तिवारी
बलरामपुर।।  जनपद बलरामपुर के कोतवाली गैसड़ी क्षेत्र में गत 27 नवंबर को दिनदहाड़े सफाई कर्मी के ऊपर गोली चला कर घायल करने वाले आरोपी युवक को आज गैसड़ी पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। इस घटना में शामिल दूसरा आरोपी अभी तक पुलिस की पहुंच से बाहर है जिसकी तलाश पुलिस कर रही है । 

                  पुलिस अधीक्षक देव रंजन वर्मा ने बताया कि थाना को0गैसड़ी निवासी सफाई कर्मचारी अनुराग गुप्ता पुत्र मोतीलाल गुप्ता पर रजनीश उर्फ खुनखुन पुत्र रामनिवास तिवारी व एक अन्य व्यक्ति द्वारा जान से मारने के उद्देश्य से फायर किया गया था जिसमें सफाई कर्मचारी को बायें गले में गोली लगी थी । सूचना पर थाना कोतवाली गैसड़ी में अभियोग पंजीकृत कर विवेचना उपनिरीक्षक अयोध्या सिंह द्वारा की जा रही थी । उन्होंने बताया कि 5 दिसंबर को जब प्रभारी निरीक्षक गैसड़ी  मानवेंद्र पाठक अपने सहयोगियों के साथ कस्बा गैसड़ी में थे । मुखबिर द्वारा सूचना मिली कि  वांछित अभियुक्त रजनीश उर्फ खुनखुन राजपुर बकौली गांव में मौजूद है तथा अपने गांव जमुनी खुर्द जाने की फिराक में है । इस सूचना पर ग्राम परसा में स्थित जूनियर हाई स्कूल तिराहे के पास से अभियुक्त रजनीश तिवारी उर्फ खुनखुन को गिरफ्तार किया गया । आरोपी की तलाशी लेने पर उसके पास से एक अवैध पिस्टल तथा 06  जिंदा कारतूस (मैगजीन से) तथा 06 राउंड कारतूश उसकी पैंट की जेब से बरामद हुआ । गोली मारने का कारण पूछने पर रजनीश हां ने जुर्म स्वीकार करते हुये बताया कि करीब 7 वर्ष पहले अनुराग गुप्ता मेरी बहन को लेकर गैसड़ी से अयोध्या जा रहा था । रास्ते में गाड़ी पलट जाने के कारण मेरी बहन को काफी चोट आई थी, लेकिन अनुराग गुप्ता मेरी बहन को इलाज कराने की वजाय उसको अयोध्या में छोड़कर चला आया था । समय से इलाज न मिलने के कारण मेरी बहन की मृत्यु हो गई थी । जिससे मुझे व मेरे परिवार वालों को काफी सदमा लगा था । इस हादसे को मैं भूल नहीं पाया तथा उसी हादसे और अपमान का बदला लेने के लिए मैंने अनुराग गुप्ता को मारना चाहा । मौका पाकर मैंने 27 नवंबर को जान से मारने की नियत से फायर किया था किंतु संयोग से वह बच गया । घटना मे शामिल दूसरे व्यक्ति के बारे में पूछने पर बताया कि वह मेरा दूर का रिश्तेदार है जो कपिलवस्तु नेपाल का रहने वाला है । घटना में प्रयुक्त मोटरसाइकिल भी उसी की  थी । उन्होंने बताया कि कि गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम को 5000/-रूपये नगद पुरस्कार से पुरस्कृत किया गया । गिरफ्तार करने वाली टीम में  कोतवाली गैसड़ी के प्रभारी निरीक्षक मानवेंद्र पाठक, उपनिरीक्षक अयोध्या सिंह,  आरक्षी  मनीष गौतम तथा जाकिर शामिल है । 

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने