Type Here to Get Search Results !

Bottom Ad

मनकापुर कृषि विज्ञान केंद्र में कृषक वैज्ञानिक संवाद संपन्न

 


 गोण्डा:उप कृषि निदेशक गोंडा के सौजन्य से आत्मा योजना अंतर्गत कृषक वैज्ञानिक संवाद आज दिनांक 4 फरवरी 2023 को कृषि विज्ञान केंद्र मनकापुर गोंडा में संपन्न हुआ । कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि अतुल कुमार सिंह प्रगतिशील कृषक कुंवरानी कृष्णा कुमारी फार्म  फिरोजपुर मनकापुर द्वारा किया गया । उन्होंने किसानों से कार्बनिक पदार्थों गोबर की सड़ी खाद, नाडेप कंपोस्ट, केंचुआ खाद को खेती में प्रयोग के लिए बल दिया । उन्होंने प्राकृतिक खेती के अपनाने में देशी गाय की भूमिका को अत्यंत महत्वपूर्ण बताया । उन्होंने रासायनिक उर्वरकों व रासायनिक दवाओं के स्थान पर कार्बनिक पदार्थों एवं जैव उत्पादों के प्रयोग पर बल दिया । डीके ठाकुर उप कृषि निदेशक ने किसानों को गौ- आधारित प्राकृतिक खेती अपनाने का आवाहन किया । उन्होंने बताया कि एक देशी गाय से 30 एकड़ की खेती की जा सकती है । डॉ. पीके मिश्रा प्रभारी अधिकारी कृषि विज्ञान केंद्र मनकापुर ने फसल अवशेष प्रबंधन को महत्वपूर्ण बताया । उन्होंने बताया कि पूसा डिकम्पोजर के छिड़काव से फसलों के अवशेष 15 दिन में सड़कर खाद में परिवर्तित हो जाती है । डॉ. राम लखन सिंह वरिष्ठ वैज्ञानिक शस्य विज्ञान ने गेहूं में उर्वरक, सिंचाई एवं खरपतवार प्रबंधन, दलहनी- तिलहनी फसलों में गंधक का प्रयोग, नैनो यूरिया का पर्णीय छिड़काव, हरी खाद की खेती, ग्रीष्मकालीन गहरी जुताई, उर्द- मूंग की खेती आदि की जानकारी दी । डॉ. मनोज कुमार सिंह उद्यान वैज्ञानिक ने उद्यानिकी फसलों के साथ सब्जियों की सह- फसली खेती व स्टेकिंग विधि से टमाटर की खेती, डॉक्टर दिनेश कुमार पांडेय ने फल परिरक्षण के अंतर्गत आंवला, नींबू, आम के अचार- मुरब्बा बनाने की तकनीक की जानकारी दी । आरपीएन सिंह विषय वस्तु विशेषज्ञ कृषि विभाग ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि, कुसुम योजना आदि की जानकारी दी । राम सिंह विषय वस्तु विशेषज्ञ,

डा.ओमकार सिंह, अरविन्द कुमार शुक्ला,संजय कुमार, राजेश जायसवाल बीटीएम, कमलेंद्र सिंह, आशीष शुक्ला एटीएम, सुनील कुमार वर्मा आदि द्वारा कृषक -वैज्ञानिक संवाद कार्यक्रम के आयोजन में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की । इस अवसर पर प्रगतिशील कृषकों महादेव प्रसाद यादव, विमल कुमार पांडेय, राजेश कुमार वर्मा, रामसागर वर्मा, विनय कुमार सिंह, शिव प्रसाद यादव आदि ने कृषक- वैज्ञानिक संवाद में प्रतिभाग कर खेती की तकनीकी जानकारी प्राप्त की । कृषकों द्वारा पूंछे गये  समस्याओं का कृषि विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिकों  एवं कृषि विभाग के द्वारा समाधान किया गया ।

Tags

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Top Post Ad



 

Below Post Ad

Bottom Ad